शुभ कर्म करने से स्वर्ग मिलता हैं : सुश्री धीश्वरी

0
42

अछल्दा 9 नवम्बर-स्टेशन बाजार स्थित बड़े मन्दिर श्री सीताराम  में चल रहे अध्यात्मक,दार्शनिक प्रवचन एवं संकीर्तन में भक्तों को प्रवचन देते हुये जगद्गुरु स्वामी कृपालु जी महाराज की प्रचारिका सुश्री धीश्वरी देवी ने कहा कि  भगवान की कृपा कोई आकस्मिक घटना नहीँ है यह किसी शर्त पर आधारित होती है वह शर्त है भगवत शरणा गति  यानि भगवान केवल शरणागत पर ही कृपा करते हैं।         अछल्दा 09112017. (1)उन्होंने कहा कि शुभ कार्य करने से स्वर्ग मिलता है तथा पाप के कर्म करने से नर्क योनियों में भटकना पड़ता है और जो व्यक्ति दोनों ही प्रकार के कर्मो को छोड़कर केवल भगवान के शरणागत रहते हैं उन्हें भगवान का लोक मिलता है इसीलिये भगवान को अकारण करुण कहा जाता है भगवान इंद्रीय मन बुध्दि से परे है। इसीलिये भगवान को इंद्रीय, मन, बुध्दि से नहीँ जाना जा सकता है भगवान को केवल भगवान की कृपा से ही जाना जा सकता है। कार्यक्रम में नीतू तोमर,संजना तोमर,सुमन देवी सेंगर,किरन, आरती,राधा सेंगर,सीमा यादव, विनय तोमर, संजय तोमर आदि ने आरती उतार कर पूजा अर्चना की है। संगीत मय प्रवचन से कस्बे में भक्ति मय वातावरण बना हुआ हैं।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें