महिलाओं के साथ हिंसा कतई जायज नहीं ठहराई जा सकती

0
60

औरैया 06 दिसम्बर-महिला समाख्या की ओर से पिछले कई दिनों से मनाये जा रहे अन्तर्राष्ट्रीय महिला हिंसा विरोध पखवारा दिवसा का समापन बुधवार को हो गया। जिलाधिकारी जय प्रकाश सगर की अध्यक्षता में कार्यक्रम का समापन किया गया।  अन्तर्राष्ट्रीय महिला हिंसा विरोध पखवारा का समापन करते हुए जिलाधिकारी ने महिलाओं के प्रति बढती हिंसा को देखते हुए वहां मौजूद सभी अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा कि उन सब को इस अभियाान में जुड़कर सफल बनाना है। महिलाओं के प्रति किसी भी प्रकार की हिंसा को जायज नहीं ठहराया जा सकता। महिलायें इस समाज का अभिन्न हिस्सा हैं। आधी आबादी महिलाओं की है। यदि महिलाओं के प्रति हिंसा होगी तो महिलायें देश के विकास में भागीदार नहीं बन पायेंगी। हम सबको मिलकर महिलाओं के प्रति होने वाली सभी प्रकार की हिंसाओं को रोकना होगा। जिससे महिलायें आगे आकर देश के विकास में भागीदार बन सकें। जिला कार्यक्रम समन्वयक सुनीता एवं माया द्वारा जिला स्तर, ग्राम पंचायत स्तर एवं नगर स्तर पर महिला उत्पीड़न के ऊपर कई रैली, नुक्कड़ नाटक एवं प्रतियोगिता आदि कार्यक्रमों का आयोजन कर महिलाओं को जागरूक किया गया। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी सतेन्द्रनाथ चैधरी एवं अपर जिलाधिकारी रामसेवक द्विवेदी व जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें