जुलूस ए मोहम्मदी में उमड़ा जनसैलाब, तेज साउण्ड और वाहनों के प्रदर्शन से लोगों को हुई असुविधा…

0
82

जुलूस ए मोहम्मदी में उमड़ा जनसैलाब, प्रशासन व्यवस्था चुस्त दुरूस्त…                       अजीतमल 2 दिसम्बर-शनिवार को वारावफात के अवसर पर जुलूस ए मोहम्मदी निकाला गया। सुबह करीब नौ बजे से बाबरपुर कस्बे के इस्लाम नगर मोहल्ले में सेैकड़ों की संख्या में इस्लाम के लोगों ने एकत्र होना शुरू किया। घोड़ों और गाडियों पर सवार होकर कई नवयुवक जुलूस में चलकर जुलूस ए मोहम्मदी की शान बढ़ा रहे थे। वही हरे झण्डों से मुगल रोड भर गया। जुलूस इस्लाम नगर से शुरू होकर अजीतमल कस्बे के मोहल्ला फिरोज नगर से आ रहे एक अन्य जुलूस में शामिल हो गया। और अजीतमल के पुरानी मस्जिद पर जाकर बाबरपुर आकर समाप्त हुआ।

तेज साउण्ड और वाहनों के प्रदर्शन से लोगों को हुई असुविधा…                     अजीतमल 2 दिसम्बर-शनिवार को वारावफात के जुलूस में कई बड़ी गाड़ियों पर साउण्ड की व्यवस्था की गई थी। तेज आवाज वाले साउण्ड से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। वही यातायात नियमों को ताक पर रखकर किये जा रहे वाहन चलाने के प्रदर्शन से भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कई किशोर दुपहिया वाहनों को लहराते हुये जुलूस में आगे पीछे चलते हुये प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन प्रशासन की नजर पड़ते ही प्रशासन ने ऐसे लोगों को प्रदर्शन न करने की हिदायत दी। वहीं कोतवाली क्षेत्र के ग्राम अनन्तराम में भी जुलूस ऐ मोहम्मदी निकाला गया। जुलूस अनन्तराम की  मस्जिद से शुरू होकर मुख्य मार्गो पर होते हुये टोल प्लाजा तक आयां। और सोनासी गांव से होते हुये अनन्तराम मस्जिद पर आकर समाप्त हो गया।

चुस्त रही प्रशासन व्यवस्था…                                                               अजीतमल 2 दिसम्बर-जुलूस ऐ मोहम्मदी में प्रशासन भी चाक चौबन्द रहा। जुलूस निकलने से पहले ही पुलिस प्रशासन ने बाबरपुर व अजीतमल तिराहों से लेकर मस्जिदों पर भी चौकसी बढ़ा रखी थी। वहीं उपजिलाधिकारी अजीतमल राजेन्द्र कुमार, पुलिस क्षेत्राधिकारी लालता प्रसाद शुक्ला, तथा कोतवाली प्रभारी जितेन्द्र कुमार सिंह स्वयं जुलूस में आगे चलकर सुरक्षा व्यवस्था का इन्तजाम देख रहे थे।

छप्पर में लगी आग, जला नवजात शिशु, सैफई रिफर…                                        अजीतमल 2 दिसम्बर-अचानक घर के बाहर पड़े छप्पर में सुबह लगी आग लग ने चारपाई पर सो रहे नवजात को अपनी चपेट में ले लिया। परिजन उसे जली अवस्था में सीएचसी अजीतमल ले आये। जहां से डाक्टरो ने उसे सैफई रिफर कर दिया। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बेरी कपड़िया में अरविन्द कुमार के घर में बाहर की ओर छप्पर पड़ा है। जिसमें घर के सभी लोग चारपाई पर सोते है। शनिवार को सुबह घर के सदस्य जागकर अपने दैनिक कार्यों में व्यस्त हो गये। लेकिन उसका छै माह का पुत्र नैतिक वही सोता रहा। अचानक छप्पर में आग लग गई। परिजनो ने जब तक आग पर काबू कर चारपाई पर  सो रहे नैतिक को निकाला। तब तक वह काफी जल चुका था। परिजन उसे लेकर सीएचसी अजीतमल आये। जहां डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद गम्भीरावस्था में उसे सैफई रिफर कर दियां।

 

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें